A Smart Gateway to India…You’ll love it!
WelcomeNRI.com is being viewed in 121 Countries as of NOW.
A Smart Gateway to India…You’ll love it!
You are Here : Home » Ajab Gajab News » Coronavirus Vaccine

Coronavirus Vaccine: आपदा में भी भर ली जेबें, वैक्सीन आई नहीं और 11 दवा कंपनियों ने कमा लिए हजारों करोड़ | Officials Of 11 Pharmaceutical Companies Earned 7.5 Thousand Crores In The Name Of Vaccine

Coronavirus Vaccine

कोरोनावायरस देश और दुनिया में हर दिन नए रिकॉर्ड्स बना रहा है. कभी संक्रमितों की संख्या हमें डराने लगती है तो कभी मृतकों का आंकड़ा. जिस तेजी से यह वायरस मानवजाति को नुकसान पहुंचाने में लगा है, हमारी दुनिया के वैज्ञानिक उतनी ही तेजी से इस वायरस को रोकने की दिशा में काम कर रहे हैं. कई लोगों ने इस वैशिवक आपदा को अवसर में भी बदल लिया. कोविड-19 का वैक्सीन अभी ट्रायल राउंड में ही है लेकिन कई लोगों ने इसके नाम पर करोड़ों रुपये कमा लिए

रिपोर्ट के मुताबिक, अमेरिकी दवा कंपनियों के अधिकारियों ने कंपनी के वैक्सीन बनाने की घोषणा से ठीक पहले शेयरों में हिस्सेदारी ली और बाजार में दाम चढ़ने पर बेच दिया. इससे कुछ ही दिनों के भीतर 1 अरब डॉलर (7.5 हजार करोड़ रुपये) का तगड़ा मुनाफा कमाया. न्यूयॉर्क टाइम्स के अनुसार, दक्षिणी सैन फ्रांसिस्को की छोटी सी दवा कंपनी वजार्ट ने 26 जून को ऐलान किया था कि जिस कोरोना वैक्सीन पर वह काम कर रही है, उसे अमेरिकी सरकार ने अपनी फ्लैगशिप योजना वार्प स्पीड में शामिल किया है.

इस खुलासे से ठीक पहले कंपनी के टॉप अधिकारियों ने इक्विटी शेयरों में हिस्सेदारी ली थी. जैसे ही यह खबर बाजार में आई, कंपनी के शेयर चढ़ने शुरू हो गए और शीर्ष अधिकारियों के इक्विटी शेयरों का मूल्य छह गुना बढ़कर 20 करोड़ डॉलर पहुंच गया. जानकारी के मुताबिक, वजार्ट के एक शेयर का मूल्य जनवरी में 30 सेंट था जो अप्रैल में 10 गुना बढ़कर 3.66 डॉलर पहुंच गया. यह दांव सिर्फ वजार्ट ही नहीं, 11 कंपनियों के शीर्ष अधिकारियों ने चला था.

कंपनियों ने बताई अधूरी सच्चाई

वजार्ट ने बताया था कि उसकी कोविड-19 वैक्सीन अमेरिकी सरकार ने अपनी फ्लैगशिप योजना में शामिल की है। सच्चाई इससे कुछ अलग है। वजार्ट की वैक्सीन बंदरों पर ट्रायल के लिए थी। इसे न तो अमेरिकी सरकार से मदद मिली और न ही फ्लैगशिप योजना में शामिल किया गया। बावजूद इसके कंपनी के मुख्य कार्यकारी एंड्रयू फ्लोरयू ने जून में खरीदे 43 लाख डॉलर के स्टॉक को 2.8 करोड़ डॉलर में बेचकर बड़ा मुनाफा कमा लिया।

गलत तरीके से कमाई का आरोप

अमेरिका की गैर लाभकारी संस्था पेशेंट फॉर अफोर्डेबल ड्रग्स के कार्यकारी निदेशक बेन वकाना का कहना है कि वैसे तो सही समय पर स्टॉक खरीदना-बेचना कानूनन सही है। लेकिन कई निवेशकों और विशेषज्ञों का कहना है कि इन अधिकारियों ने मुनाफा कंपनी की आंतरिक खबरों के आधार पर कमाया है। यह कदम फार्मा उद्योग और निवेशकों के भरोसे को ठेस पहुंचाने वाला है। महामारी के इस दौर में हर नागरिक अपना योगदान दे रहा जबकि इन कंपनियों ने मुनाफा कमाने पर जोर दिया।

इन कंपनियों ने भी बनाए पैसे

कंपनी            मुनाफा

रिजेनेरन            80 फीसदी
मॉडर्ना              300 फीसदी
नोवावैक्स           550 फीसदी

Tags: Corona corona vaccine medicine company company share coronavirus vaccine covid-19 vaccine date covid-19 vaccine share corona vaccine share corona vaccine company covid-19 vaccine compnay US based 11 pharmaceutical companies pharmaceutical companies

You may be intrested in

A Smart Gateway to India…You’ll love it!

Recommend This Website To Your Friend

Your Name:  
Friend Name:  
Your Email ID:  
Friend Email ID:  
Your Message(Optional):