A Smart Gateway to India…You’ll love it!
WelcomeNRI.com is being viewed in 124 Countries as of NOW.

WelcomeNRI.com is being viewed in 124 Countries as of NOW.
कलाई के दर्द के लिए घरेलू उपचार

संक्षेपण

कई कारणों से हो सकता है कलाइयों में दर्द।


कलाइयों का करें सीमित इस्तेमाल।


दर्द होने पर सिकाई से मिलता है आराम।


बैंड बांधकर भी आपको दर्द से मिलती है राहत।


         आप सारा दिन कंप्यूटर पर बैठे रहते हैं। माउस और की-बोर्ड पर उंगलियां टकराना भले ही आपके काम का हिस्सा हो, लेकिन इसका जोर आपकी कलाइयों पर पड़ता है। कंप्यूटर पर अधिक देर तक काम करने से कलाइयां दर्द करने लगती हैं और साथ ही कारपल टनल सिंड्रोम भी हो सकता है। इसलिए हम आपका बता रहे हैं कलाई के दर्द के लिए घरेलू उपचार।


         बेशक, अगर आपका इस बात का आभास हो कि आपकी कलाइयों में दर्द की वजह अधिक गंभीर है, तो आपको डाॅक्टर के पास जाना चाहिए। लेकिन, इससे पहले आप पांच आसान घरेलू उपाय आजमा सकते हैं, जिनसे आपको कलाइ के दर्द में आराम मिल सकता है। हां, अगर आपको चोट या किसी अन्य कारण से कलाइ में दर्द हो रहा है, तो बेहतर रहेगा कि आप चिकित्सक के पास जाएं।


कलाइयों का करेें सीमित इस्तेमाल

        अपनी कलाइयों का अधिक इस्तेमाल न करें। हालांकि, सुनने में यह बहुत आसान लगता है, लेकिन ऐसा है नहीं। क्या आप जानते हैं कि अधिकतर लोग कलाइयों पर पट्टी बांधकर अपने रोजमर्रा के कामों में लगे रहते हैं, इससे उनकी कलाइयों पर और अधिक दबाव पड़ता है। बेशक, आपका सबसे पहला काम अपनी कलाइयों को ठीक करने का प्रयास करना चहिए। आपकी कलाई को आराम की जरुरत है। ठीक वैसे ही जैसे आपके शरीर के बाकी अंगो को किसी चोट या जख्म के बाद आराम की जरुरत होती है। अपनी कलाइयों को आराम दें देखें यह कैसे काम करता है।


बैंड बांधें

         अगर आपको ऐसा लगता हैं कि आपकी कलाइयों में लगातार चोट लगती रहती है, तो आपको अच्छी क्वालिटी की बैंडेज बांधने की जरुरत है। इसके साथ ही आप चाहें तो कड़ा बैंड भी बांध सकते हैं। यह बैंड आपका किसी भी दवा की दुकान से मिल सकता है। अगर आपकी कलाई को कोई अंदरूनी चोट नहीं है, तो आपका डाॅक्टर भी आपके हाथ पर बैंड बांधकर आपको घर जाने को कह देगा। साथ ही आपका कई सलाह देगा कि आपको अपनी कलाई कैसे हिलानी है या फिर कैसे नही हिलानी है। आपको वनज उठाना है अथवा नहीं। उठाना है, तो कैसे उठाना है। क्या आप महज इतनी सी बात के लिए डाॅक्टर की फीस भरना चाहते हैं। इससे अच्छा है कि अपनी कलाई को बांध लें।


पानी पियें

         आप सोंचेंगे कि कलाइ के दर्द का पानी से क्या वास्ता। लेकिन, यह वाकई काम करती है। पानी में मौजूद तत्व आपके शरीर से विषैले पदार्थों को बाहर निकालने में मदद करते हैं। पानी शरीर के लिए ल्यूब्रीकेटर का काम करता है। भले ही आपका अर्थराइटिस के कारण दर्द हो रहा हो अथवा काम के अधिक बोझ के कारण आपको कोई परेशानी हो रहे हो, पानी आपके लिए काफी मददगार हो सकता है।


पुदीने का तेल

         पुदीने का तेल कलाई के दर्द से राहत पाने का अचूक उपाय है। पुदीने के तेल में कोई अन्य तेल मिला लें, इससे पुदीने के तेल से होने वाली जलनध्ठंडक को कम किया जा सकेगा। अगर आप इसमें कोई अन्य तेल जैसे वेजिटेबल आॅयल अथवा आॅलिव आॅयल नहीं मिलाएंगे, तो इसका असर काफी तेज होगा और यह जलने लगेगा। पुदीने के तेल में अन्य तेल 1ः4 से मिलाना चाहिए। यानी एक चम्मच पुदीने के तेल में चार चम्मच कोई अन्य तेल। इस तेल से अपनी कलाइयों की मालिश करें। थोड़ी-थोड़ी देर में इस तेल से मालिश करते रहने से फायदा होता है।


बर्फ की सिकाई

         यदि आप सूजन से पिडि़त हैं, तो प्रभावित क्षेत्र पर रक्त के अतिरिक्त दबाव को कम करने से सूजन घटायी जा सकती है। इसके लिए आपको चाहिए कि सूजन व दर्द वाले हिस्से पर बर्फ के कुछ टुकड़ लगायें। हालांकि, इस बात का ध्यान देना चाहिए कि आप उस हिस्से को 20 मिनट से ज्यादा खुला सकते।


आलू लगाएं

         कपड़े की साफ पट्टी में उबले आलू मैश करके प्रभावित क्षेत्र और उसके आसपास बांध लें। गरम आलू लंबे समय के लिए गर्मी बरकरार रखता है। इससे आपको लंबे समय तक सिंकाई इससे रक्त प्रवाह में सुधार होता है।


कलाई को ऊंचा रखें

         जिस समय सोने जाए अपनी कलाई को ऊंचाई पर रखने के लिए अपने हाथो के नीचे कुछ तकिये रखे। सुनिश्चिित करें कि यह आपके दिल की तुलना में अधिक उंचा हो। यह घाव भरने की प्रक्रिया में तेजी लाएगा। आदर्श रूप में, इन घरेलू उपचार की मदद से एक या दो दिनों में आपका दर्द और सूजन कम हो जाना चाहिए। हालांकि, आगर स्थिति में सुधार नही आता या गंभीर हो जाती है, तो जितना जल्दी हो सकते डाॅक्टर से मिलें।


Featured Products

For Asthma

Boil some leaves of vilwam..

More..

For Cough and Cold

Boil one teaspoon of fenugreek (Methi)..

More..

For Back Pain

Mix equal parts of the juice of karinochi..

More..

For Common Cold

This is perhaps the commonest of all..

More..
View All
Dadi Maa Ka Khazana
From The Health Magazines

Heart & Blood Pressure Problems

Heart is the most vital organ of the body which may be protected by any means.

Read More..

Head Disorders

Head contains hair on outside and brain inside.

Read More..

Stomach Disorders

Stomach is the main functioning part of our digestive system.

Read More..

Chest Problems

Our respiratory system is very sensitive and get infected by polluted or toxins containing ,

Read More..
More Links

Popular Links

Disclaimer >>
WelcomeNRI.com has provided this material for your information. It is not intended to substitute for the medical expertise and advice of your primary health care provider. We encourage you to discuss any decisions about treatment or care with your health care provider. The mention of any product, service, or therapy is not an endorsement by WelcomeNRI.com. The information offered on the displayed page and other related pages of the topic is not proposed to replace or discourage taking guidance of a doctor currently treating you. Any submission of the material on these pages is at reader’s prudence and own accountability. If you have any or constant health state or your symptoms are rigorous, please seek advice from a qualified medical doctor. Content on this page and related pages and suggested remedies have not been checked by USFDA and IMC- India. WelcomeNRI.com claims no responsibility for any contents and remedies mentioned any where on this website.
A Smart Gateway to India…You’ll love it!

Recommend This Website To Your Friend

Your Name:  
Friend Name:  
Your Email ID:  
Friend Email ID:  
Your Message(Optional):